‘हिंदुस्तान जिंदाबाद था, जिंदाबाद है और जिंदाबाद रहेगा,’ या 10 डायलॉगने पाकिस्तानला दिले सडेतोड उत्तर

पाकिस्तान जो भाषा समझता है, उसको उसी भाषा में जवाब देने का समय आ गया है...

News18 Lokmat | Updated On: Jun 16, 2019 04:24 PM IST

‘हिंदुस्तान जिंदाबाद था, जिंदाबाद है और जिंदाबाद रहेगा,’ या 10 डायलॉगने पाकिस्तानला दिले सडेतोड उत्तर

बॉर्डर (1997)- शायद तुम नहीं जानते... ये धरती शेर ही पैदा करती है।

बॉर्डर (1997)- शायद तुम नहीं जानते... ये धरती शेर ही पैदा करती है।


बॉर्डर (1997)- हम तो किसी दूसरे की धरती पर नजर भी नहीं डालते, लेकिन इतने नालायक बच्चे भी नहीं हैं कि कोई हमारी धरती मां पर नजर डाले और हम चुपचाप देखते रहें।

बॉर्डर (1997)- हम तो किसी दूसरे की धरती पर नजर भी नहीं डालते, लेकिन इतने नालायक बच्चे भी नहीं हैं कि कोई हमारी धरती मां पर नजर डाले और हम चुपचाप देखते रहें।


गदर (2001)- बंटवारे के वक्त हम लोगों ने आपको 65 हजार रुपए दिए थे, तब जाकर आपके सिर पर तिरपाल आई थी, बरसात से बचने की हैसियत नहीं और गोली-बारी की बात कर रहे हैं आप लोग।

गदर (2001)- बंटवारे के वक्त हम लोगों ने आपको 65 हजार रुपए दिए थे, तब जाकर आपके सिर पर तिरपाल आई थी, बरसात से बचने की हैसियत नहीं और गोली-बारी की बात कर रहे हैं आप लोग।


गदर (2001)- अशरफ अली! आपका पाकिस्तान जिंदाबाद है, इससे हमें कोई ऐतराज नहीं लेकिन हमारा हिंदुस्तान जिंदाबाद था, जिंदाबाद है और जिंदाबाद रहेगा।

गदर (2001)- अशरफ अली! आपका पाकिस्तान जिंदाबाद है, इससे हमें कोई ऐतराज नहीं लेकिन हमारा हिंदुस्तान जिंदाबाद था, जिंदाबाद है और जिंदाबाद रहेगा।


मां तुझे सलाम (2002)- दूध मांगोगे तो खीर देंगे कश्मीर मांगोगे तो चीर देंगे।

मां तुझे सलाम (2002)- दूध मांगोगे तो खीर देंगे कश्मीर मांगोगे तो चीर देंगे।


लक्ष्य (2004)- ये इंडियन आर्मी है, हम दुश्मनों में भी एक शराफत रखते हैं।

लक्ष्य (2004)- ये इंडियन आर्मी है, हम दुश्मनों में भी एक शराफत रखते हैं।


रंग दे बसंती (2006) अब भी जिसका खून ना खौला, खून नहीं वो पानी है... जो देश के काम ना आए वो बेकार जवानी है।

रंग दे बसंती (2006)
अब भी जिसका खून ना खौला, खून नहीं वो पानी है... जो देश के काम ना आए वो बेकार जवानी है।


शौर्य (2008)- बॉर्डर पर मरने से ज्यादा बड़ा नशा कोई नहीं होता है।

शौर्य (2008)- बॉर्डर पर मरने से ज्यादा बड़ा नशा कोई नहीं होता है।


बेबी (2015)- मिल जाते हैं कुछ ऑफिसर हमें थोड़े पागल, थोड़े अड़ियल... जिनके दिमाग में सिर्फ देश और देशभक्ति घूमती रहती है, ये देश के लिए मरना नहीं चाहते, बल्कि जीना चाहते हैं... ताकि आखिरी सांस तक देश की रक्षा कर सकें।

बेबी (2015)- मिल जाते हैं कुछ ऑफिसर हमें थोड़े पागल, थोड़े अड़ियल... जिनके दिमाग में सिर्फ देश और देशभक्ति घूमती रहती है, ये देश के लिए मरना नहीं चाहते, बल्कि जीना चाहते हैं... ताकि आखिरी सांस तक देश की रक्षा कर सकें।


उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक (2019)- ये हिंदुस्तान अब चुप नहीं बैठेगा, ये नया हिंदुस्तान है। ये घर में घुसेगा भी और मारेगा भी।

उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक (2019)- ये हिंदुस्तान अब चुप नहीं बैठेगा, ये नया हिंदुस्तान है। ये घर में घुसेगा भी और मारेगा भी।


उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक (2019)- पाकिस्तान जो भाषा समझता है, उसको उसी भाषा में जवाब देने का समय आ गया है... सर, सर्जिकल स्ट्राइक।

उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक (2019)- पाकिस्तान जो भाषा समझता है, उसको उसी भाषा में जवाब देने का समय आ गया है... सर, सर्जिकल स्ट्राइक।

बातम्यांच्या अपडेटसाठी लाईक करा आमच्या फेसबुक पेजला , टि्वटरवर आणि जी प्लस फाॅलो करा

Tags:
First Published: Jun 16, 2019 03:52 PM IST
Loading...

ताज्या बातम्या

Loading...

Live TV

News18 Lokmat
close